आह्वान

दिल की गहराइयों से

19 Posts

158 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 5749 postid : 60

तुम्हें क्या मालूम .......

Posted On: 21 Aug, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

रहनुमा आज फिर मदहोश मेरे मुल्क के हैं ,
इतिहास गए भूल , तुम्हें क्या मालूम !
फितरतन है मेरे होठों पे तबस्सुम लेकिन ,
दिल है जख्मों से मेरा चूर ,तुम्हें क्या मालूम !
गम की राहों में मेरा साथ कहाँ तक दोगे ?
मेरी मंजिल है बहुत दूर ,तुम्हें क्या मालूम !

बेगुनाह लोग ,और अधजली लाशें ,
वो मंज़र भूलता नहीं है ,तुम्हें क्या मालूम !
दर्द को समेटे ,सुलगती ज़िन्दगी ,
धुवां ही उगलती है तुम्हें क्या मालूम !

आखों ने बुने ख्वाब थे जिनके लिए ,
जा बैठे कितनी दूर ,तुम्हें क्या मालूम !
हर शक्स जैसे आज बेगाना हुवा है ,
कितना हु मैं मजबूर ,तुम्हें क्या मालूम !
वो कारवां जो साथ कल मेरे चला था ,
है आज कोसों दूर, तुम्हें क्या मालूम !

खामोश चाहत मेरी ,न आई लबों पे अब तक ,
तुम चाँद मै चकोर ,तुम्हें क्या मालूम !
दामन में आसमाँ के ,सितारे बहुत है ,लेकिन ,
तुझसा न कोई और ,तुम्हें क्या मालूम !

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

8 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Kailash C Sharma के द्वारा
September 3, 2011

वो कारवां जो साथ कल मेरे चला था , है आज कोसों दूर, तुम्हें क्या मालूम ! …..बहुत सुन्दर भावपूर्ण प्रस्तुति..

    rajuahuja के द्वारा
    September 4, 2011

    आपका स्वागत है कैलाश जी !

Kailash C Sharma के द्वारा
August 22, 2011

बहुत सुन्दर भावपूर्ण अभिव्यक्ति…जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

    rajuahuja के द्वारा
    August 22, 2011

    धन्यवाद शर्मा जी !

Santosh Kumar के द्वारा
August 21, 2011

आदरणीय राजू जी ,..बहुत सुंदर संवेदनशील अभिव्यक्ति

    rajuahuja के द्वारा
    August 21, 2011

    आपका स्वागत है संतोष जी !

nishamittal के द्वारा
August 21, 2011

प्रभावशाली विचार राज जी.और सुन्दर अभिव्यक्ति.

    rajuahuja के द्वारा
    August 21, 2011

    प्रतिक्रिया का आभार निशा जी !


topic of the week



latest from jagran